डिवोर्स के बाद गांड मरवाई

यह कहानी मेरे जीवन के सबसे कठिन समय की है। जब मेरे साथ कोई नहीं था और मैंने अपनी मेहनत और अपने बलबूते पर अपना मुकाम हासिल किया। मेरा नाम स्नेहा है। मेरी शादी को 2 साल ही हुए थे और उसके बाद मेरा डिवोर्स हो गया। शादी के बाद जब मैं ससुराल गई तो शुरु-शुरु में मेरी सास और मेरे पति मेरे साथ बहुत ही अच्छे तरीके से रहते थे और मेरे ससुर जी भी बहुत अच्छे हैं। मेरी एक ननंद भी थी। उसकी भी कुछ समय बाद शादी होने वाली थी। मेरे पति का नाम रवि था। वह एक छोटी मोटी कंपनी में काम करता था। शादी के कुछ समय बाद मुझे पता लगा कि वह नशा करता है और शराब भी पीता है।

एक दिन वह जब ऑफिस से घर आए तो शराब पीकर आए थे। उस दिन उन्होंने मुझ पर हाथ उठाया था। मैंने तो उनसे सिर्फ यही कहा कि बाहर से शराब पीकर आने की क्या जरूरत थी। मेरा इतना कहने पर ही उन्हें गुस्सा आ गया और उन्होंने मुझ पर हाथ उठाया। उस दिन तो मैंने कुछ नहीं बोला।

देसी हिंदी अन्तर्वासना सेक्स कहानी पढ़े।

दूसरे दिन भी वह शराब पीकर घर आए और मैंने अपने सास से यह बात बोली लेकिन उन्होंने उन्हें कुछ नहीं बोला और उन्हीं का साथ दिया। जब मेरे ससुर जी को पता चला तो उन्होंने मेरे पति को खूब डांट लगाई। और कहा कि दोबारा शराब पीकर घर पर मत आना। मेरे पति को लगा की मैंने उनकी शिकायत की और वह मुझ पर गुस्सा हो गए। उन्होंने मुझसे बात करनी बंद कर दी। मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने कहा की घर में बताना जरूरी था कि मैं शराब पीकर घर आया। मैंने उन्हें बहुत समझाया कि मैंने उनकी शिकायत उनके पिताजी से नहीं की लेकिन उन्हें मेरी बात पर यकीन नहीं हुआ। देखते ही देखते हम दोनों के बीच दूरियां बढ़ने लगी। जब भी वह घर आते तो हमेशा मुझसे झगड़ा ही करते थे और मेरी सास भी झगड़े का कारण मुझे ही बताती थी। लेकिन मेरी सुनने वाला वहां पर कोई भी नहीं था। यह बात मैं अपने घरवालों को भी नहीं बता सकती थी। अगर मैं उन्हें यह बात बता देती तो उन्हें मेरी बहुत चिंता होती। इसलिए मैंने अपने घरवालों को नहीं बताया। जब मैं घर का पूरा काम कर लेती तो मैं अपना मन बहलाने के लिए अपनी सहेली के यहां चली जाती। लेकिन यह बात मेरी सास को बिल्कुल भी अच्छी नहीं लगती थी।

कुछ दिन बाद मैं अपना काम निपटा कर अपनी सहेली के घर जा ही रही थी। तब तक मेरी सास ने मुझे वहां जाने से इंकार कर दिया लेकिन मैं  उनके ना कहने के बावजूद भी  अपनी सहेली के घर गई। उन्होंने मेरे पति से जाकर कह दिया। जब मैं घर आई तो उन्होंने भी मुझे खूब सुनाया और गुस्से में आकर मुझे थप्पड़ भी मारा। मुझसे अब इनका रोज रोज का झगड़ा देखा नही जा रहा था। मुझे लगने लगा था कि रवि और मेरी ज्यादा समय तक नहीं चल पाएगी।

मैंने रवि से कहा मुझे डिवोर्स चाहिए। पहले तो वह मुझे डिवोर्स के लिए मना करता रहा। उसके लिए मुझे एक वकील हायर करना पड़ा। मैंने जब वह वकील हायर किया तो तब भी रवि ने मुझे डिवोर्स देने से मना कर दिया। वह डिवोर्स पेपर पर साइन नहीं कर रहा था। उसमें बहुत आनाकानी कर रहा था। अब मेरा केस कोर्ट में था। उसके बाद मैं केस जीत गई। म अब अलग रहने लगी थी। मुझे रवि के परिवार से अब कोई लेना देना नहीं था। मैं अपने जीवन को अपने तरीके से जी रही थी। मुझे अकेले रहते हुए एक साल से ऊपर हो चुका था।

उसके बाद मेरे जीवन में अमित की एंट्री हुई। अमित का भी डिवोर्स हो चुका था और वह भी अकेला ही रहता था। मेरी तरह अब अमित और मेरे बीच में काफी सारी बातें होने लगी थी। मैंने उसे अपने बारे में बताया कि मेरे डिवोर्स का कारण क्या था। अमत ने भी मुझे यही बात बताई। उसका डिवोर्स का कारण क्या था कैसे उसका डिवोर्स उसकी पत्नी से हुआ। वह मुझे हमेशा खुश रखने लगा था और वह मुझे समझता भी था। तो हम दोनों ने फैसला किया कि अब हम दोनों एक साथ ही रहेंगे। अमित मेरे साथ ही रहने लगा था। पहले तो हम दोनों के बीच में सेक्स को लेकर कुछ बात नहीं होती थी। लेकिन अब बात होने लगी थी क्योंकि वह हम दोनों की जरूरत थी। हम दोनों ने काफी समय से सेक्स नहीं किया था। मैंने अमित से इस बारे में बात रखी। अमित ने कहा ठीक है हम दोनों सेक्स करेंगे। अब हम दोनों अपने काम निपटा कर शाम को घर वापस आए। मने देखा अमित ने बड़े ही धीमी आवाज में गाने लगा रखे थे। क्योंकि वह मुझसे पहले पहुंच चुका था। उसने बड़े ही रोमांटिक सॉन्ग लगा रखे थे। मैं वह सॉन्ग सुनकर बडी ही खुश हो गई। मैंने अमित से पूछा तुमने यह क्या लगा रखा है। उसने कहा कि मैंने तुम्हारे लिए रोमांटिक सोंग्स लगा रखे हैं। मैंने देखा कि उसन बिस्तर पर भी फूल डाले हुए हैं। मैं यह देख कर बहुत खुश हो गई। मैंने अमित से कहा कि मैं चेंज करके आती हूं और मैं अपने दूसरे रूम में गई। वहां से चेंज कर कर आई तो मैंने एक सेक्सी सी नाइटी पहनी जो कि नेट वाली थी। मैं जैसे ही अमित के सामने आई तो उसने कहा कि तुम तो बहुत सेक्सी लग रही हो। उसने मुझे गले लगाया और कहने लगा तुम बहुत अच्छी लग रही हो।

अब हम दोनों बिस्तर पर चले गए बिस्तर पर हल्की सी खुशबू की महक आ रही थी। जो कि मुझे बहुत ही अच्छी लग रही थी। अमित ने मुझे  अपने नीचे लेटा दिया और वह मेरे नाइटी को खोलने लगा। उसने बड़े ही प्यार से मेरी नाइट खोली मुझे बहुत मजा आ रहा था। वह मेरी टांगों से किस करते हुए मेरे स्तन तक पहुंच गया और उसने मेरे होठों को किस करना शुरू किया। जैसे ही वह मेरे होठों को किस कर रहा था। तो मुझे बहुत ही अच्छी फीलिंग आ रही थी। मैं भी उसको किस कर रही थी। अमित ने नाइटी और ब्रा को उतार दिया था और मैं उसके सामने एकदम नंगी लेटी हुई थी। वह मेरे स्तनों को बहुत अच्छे से अपने मुंह में ले रहा था और उसने मुझे जगह-जगह लव बाइट भी दे दी थी। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। मैंने अमित के कपड़े उतार दिए और उसके लंड को सकिंग करने लगी जैसे ही मैंने उसके लंड को सकिंग करना शुरू किया तो वह कहने लगा।

मुझे काफी अच्छा लग रहा है। मैं उसके लंड को मुंह में ले लिया था और मुझे बहुत मजा आ रहा था। उसका लंड बहुत ही मोटा था। ऐसा करते हुए वह भी अब काफी जोश में आ गया था और मुझ से भी रहा नहीं जा रहा था। उसने मेरी चूत को चाटना शुरु किया। उसने बहुत ही अच्छे से मेरी चूत को चाटा, मेरा पानी निकलने लगा। अब मैं बहुत ही गर्म हो चुकी थी। तो उसने भी अपने लंड को मेरी चूत से सटा दिया। जैसे ही उसने अपने लंड को मेरे चूत से सटाया तो मुझे बहुत अच्छा लगा। उसका लंड मेरी चूत मे जा चुका था। वह बहुत ही तेजी से धक्का मार रहा था।

जैसे ही उसने झटके मारना शुरु किया। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। 200 झटको के बाद मेरा भी झड़ चुका था और अमित का भी झड़ने वाला था। तो उसने मेरी योनि में ही गिरा दिया। अब मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। अमित ने कहा कि मुझे एनल सेक्स करना है। मैंने उसे कहा ठीक है। वह एक लिक्विड लाया वह बहुत ही चिकना था। उसने अपने लंड पर उसे अच्छे से लगा लिया और मेरे गांड में भी उसने बहुत अच्छे से उसे लगा दिया। बहुत धीरे से मेरे गांड में अपने लंड को डालता जाता। जैसे जैसे वह डाल रहा था तो वह बड़ी ही अच्छे से अंदर तक चला गया। अब वह बड़ी तेज झटके मार रहा था। मेरे मुंह से आवाज निकल रही थी। वह बहुत ही अच्छे से मेरे साथ सेक्स कर रहा था। मुझे काफी मजा आ रहा था। उसके साथ अपनी गांड मरवाने में उसने ऐसे ही काफी देर तक किया और कुछ देर बाद उसका झड़ने को हो गया। उसने अंदर ही गिरा दिया। जैसे ही उसने मेरी गांड से अपने लंड को बाहर निकाला। तो उसका सारा माल टपक रहा था। मुझे बहुत ही अच्छा लगा। मैंने अमित से कहा कि तुमने आज मेरी गांड बहुत ही अच्छे से मारी है। मुझे बहुत खुशी हो रही है। अब हम दोनों के बीच में अच्छे से सेक्स होने लगा था। अमित के साथ मेरी जिंदगी अच्छे से गुजरने लगी थी। वह कभी भी मुझे किसी भी बात के लिए परेशान नहीं करता था।