बहन बनी पत्नी और माँ बनी सास

मेरी बहन का नाम रूपाली है वो 26 साल की एक दम खूबसूरत और बहुत सेक्सी है उसकी गांड मोटी मोटी और बूब्स बड़े बड़े है 36d-30-38 और वो नॉर्मली जीन्स और टॉप पहनती है और बहुत सेक्सी लगती है…

मैं शुभम 28 साल का एक आवरेज दिखने वाला लड़का हू. पर मेरा लैंड बहुत बड़ा और काफी चुदाई करने बाला लड़का हु, मैं नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम का नियमित पाठक हु,

यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप www.HindiSexStoriesPictures.Com पर पढ़ रहे हैं

देसी हिंदी अन्तर्वासना सेक्स कहानी पढ़े।

मेरी मा निशा 42 यियर्ज़ की है और वो भी एक दम गोरी है बुत उनकी हाइट कम है जिससे वो थोड़ी मोटी लगती है बुत उनकी गांड बहुत मस्त है 36d-32-40 फिग की मालकिन मेरी मा बहुत चुड़क्कड़ है पापा का निधन हम लोगो के बचपन मे ही हो गया था…

मैं और मेरी बहन शुरू से ही काफ़ी फ्रॅंक थे एक दूसरे से बहुत बाते करते और किसी से कोई बात नही छुपाते थे..मेरी बहन रूपाली और मैं धीरे धीरे एक दूसरे से प्यार करने लगे और हम अब सेक्स पर भी बात करने लगे थे…मेरी बहन रूपाली मेरे साथ मेरी गर्ल फ्रेंड की तारह ही रहने लगी थी और हम बाहर एक दूसरे के गले मे हाथ डाल कर भी घूमते थे…एक दिन मैं और मेरी बहन मेरे रूम मे बैठ कर ब्लूएफील्म देख रहे थे…हम दोनो मूवी मे खोए हुवे थे की हमारे पीछे कब मम्मी आकर खड़ी हो गयी पता ही नही चला…मूवी बहुत हॉट थी और उसमे एक लड़का अपनी गफ़ को बहुत प्यार से चोद रहा था…एक दम से मम्मी ने गुस्से मे कहा शुभम और रूपाली क्या कर रहे हो ये…हम दोनों डर गये…और मम्मी के सामने रोने लगे…मम्मी ने पीछा सच बताना क्या क्या कर चुके हो तुम दोनो…और तुम भाई बहन हो तुम्हे शर्म नही आती क्या…तो मैने कहा मम्मी हम एक दूसरे से बहुत प्यार करते है और बस हम आज पहली बार ही….तो मम्मी बोली बेटा शुभम मैं रूपाली के लिए लड़का देख रही हू..और अब जब तुम दोनो एक दूसरे से प्यार करते हो तो शादी भी कर लो हम कही दूसरे शाहर चले जाएँगे और वाहा तुम आज़ादी से अपनी ज़िंदगी एंजाय करना…मेरी मा के मूह से एसी बात सुनकर हम दोनो भाई बहन शॉक रह गये…और मैने रूपाली की तरफ़ देखा तो उसने शर्मा के मूह नीचे कर लिया…तो मा ने अपना फोन निकाला और आर्य समाज मे कॉल कर के नेक्स्ट दे की और डेट बुक करवा ली.. फिर मम्मी मेरी बहन को वाहा से ले जाने लगी तो मैने कहा मम्मी एक बार रूपाली को हग तो कर लेने दो…तो मा बोली वो सब शादी के बाद..

मैं बहुत एग्ज़ाइटेड था क्योकि कल मेरी प्यारी बहन मेरी पत्नी बनने वाली थी..फिर मम्मी ने मुझे कहा अब तो अपने दोस्त के यहा चला जा मुझे घर मे बहुत काम करना है और कम शाम को मंदिर आ जाना ठीक 8 बजे….

अगाए दिन शाम को मैं मंदिर पहुच गया मेरी मा मेरी बहन रूपाली को दुल्हन की तारह सज़ा कर मंदिर ले आई…जहा पंडित ने हम भाई बहन के फेरे करवाए..फिर पंडित ने मेरी बहन की माँग भरने और मंगलसूत्रा पहनने को कहा…तो मैने वैसे ही किया फिर इस के बाद मेरी बहन ने मेरे पाव पड़े और कहा आज से आप ही मेरे स्वामी हो मेरे सब कुछ हो…मैं अपना सारा तन बदन आपके चरणो मे अर्पित करती हू मुझे अपनी पत्नी के रूप मे स्वीकार करे…तो मैने मेरी बहन को उठाया और उसके माथे पर किस की..और रूपाली के कान मे कहा मेरी जान भले ही हम पति पत्नी है पर घर मे तो तुम मुझे भैया ही बोलॉगी…फिर हमने मम्मी के पाव पड़े…और कार मे बैठ कर घर आ गये..घर आकर मा मेरी बहन को अंदर कमरे मे ले गयी फिर मेरी मा ने मुझे आवाज़ दी…

और अंदर गया तो देख कर दंग रह गया मेरी बहन बेड पर बैठी थी और मेरी मा ने वो रूम बहुत सारे लाल गुब्बारों से सजाया था और रूम मे बहुत रोमॅंटिक माहौल हो रहा था…मैने मम्मी को कहा थॅंक्स तो मा बोली बेटा आ जा तेरी पत्नी के साथ जो चाहे कर अब आज से तेरी बहन रूपाली तेरी पत्नी है तुम चाहे ब्लू फिल्म देखो या बनाओ मुझे कोई दिक्कत नही है…फिर मैने मम्मी को कहा मा अब आप जाओ ना मुझे मेरी सुहागरात मानने दोगी या नही…और फिर मा बाहर चली गयी…फिर मैं मेरी बहन रूपाली के पास गया और उसका घूंघट उठाने लगा तो रूपाली बोली भैया एक शर्त मानना पड़ेगी…मैने कहा बोल बहन क्या चाहिए तो वो बोली आप मुझे बहुत एंजाय करोगे और मुझे बहुत प्यार करोगे ना…मेरे और सेक्स के बीच मेरी हम इच्छा पूरी करोगे ना…तो मैने कहा हा मेरी प्यारी बहन …फिर मैने मेरी बहन का घूँघट उतार दिया और उसके होठो पर किस की…

फिर मैं एक एक कर के मेरी बहन की सब ज्वेलरी उतार दी…मेरी बहन ने मेरी शेरवानी के बोट्टोन्स खोल के मेरी शेरवानी खोल दी…और फिर मेरी अंडरवेर भी खोल दी और मुझे नंगा कर दिया मेरा लंड एक दम कदम था मैने रूपाली को कहा बहन इसे अपने होठो से छुओ तो मेरी बहन ने मेरे लॅंड पर किस की..और मेरी बॉल्लस को टच किया मैने रूपाली मे बालो मे हाथ फेरा और अपना लॅंड मेरी बहन के मूह मे डाल दिया… मेरी बहन मेरा लॅंड अपने मूह मे अंडर बाहर कर के कॅंडी की तारह चूस रही थी..फिर 10 मिंट के बाद मैने रूपाली को खड़ा किया और उसके कपड़े उतार दिए और उसे नंगा कर दिया मैं नेरी बहन के नंगे बदन को घूर रहा था तो रूपाली बोली भाय्या एसे मत देखो ना मुझे शर्म आने लगेगी…फिर मैने मेरी बहन के दोनो बूब्स पर हाथ रखा और निपल्स प्रेस करने लगा…और के मूह से ह….उउफफफफफफफ्फ़ आआआआआआअ……..सिसकिया निकालने लगी…तो मैने उसके होठो पर अपने होठ रख दिए और उसकी किस लेने लगा….

फिर मैने अपने हाथ मेरी बहन की गांड पर रखे…और उसकी नर्म मुलायम गांड दबाने लगा…फिर मैने रूपाली को बेड पर लैयता दिया और और मेरी बहन ने अपनी टांगे फैला दी…मैं समझ गया मेरी बहन क्या चाहती है तो मैने मेरी बहन की बूर चाटना शुरू किया…उसकी बूर एक दम चिकनी थी…और उसमे से अजीब सा मीठा पानी निकल रहा था…करीब 15 मिंट बाद रूपाली को मैने उल्टी किया…और उसकी गांड छाती…मेरे लॅंड का बुरा हाल था और मेरी बहन बहुत हिट पर आ गयी थी…उसने मेरे बालो मे हाथ डाला और बोली भैया अब डाल भी दो ना..मत तड़पो अपनी बीवी को अपनी बहन को…तो मैने रूपाली की दोनो टाँगे फैला दी..और अपना लॅंड धीरे धीरे उसकी बूर मे डालना शुरू किया…मेरी बहन ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी….आआआआआआहह….आआआआआहह….मैने धीरे धीरे लॅंड अपनी बहन की बूर मे किया….वो पागल हो उठी…जैसे ही मेरा टोपा उसकी बूर मे गया मेरी बहन उछाल गयी…और आआआआहह……आआआआआअहह…..नाहहिईीईईईईई……उूुुुुुुुउऊहफफफफ्फ़….बाआआआसस्स्स्स्स्स्स्स्सस्स…भियाआआआ….आआ हह…मममम्माआआआआआअ………मार गयी चिल्लाने लगी…मैने अपना लॅंड बाहर किया और देखा तो मेरे लॅंड पर ब्लड लगा था मैने रूपाली को कहा देख बहन आज तेरी सील भी टूट गयी…अब तुझे तोड़ा सा पाईं और होगा तो रेडी है ना फिर एंजाय ही एंजाय है….तो वो कुछ नही बोली मैं ईक बार फिर अपना लॅंड मेरी बहन की बूर पर रखा और एक ज़ोर के झटके से पूरा लॅंड अंडर अंडर कर दिया…….मेरी बहन ज़ोर ज़ोर से रोने लगी…आआआआआअहह….आआआआआआहह….ननणन्नहिईीईईईईईईईईईईईईई भाययययययययाआआआआअ….उफफफफफफफफफफफफ्फ़……..बहुत दर्द हो रहा है………छोड़ दो……..प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़……..आआआआआआआहह….मम्मय्यययययययी…..मार गयी………..मा बचो………..भाय्य्ाआआआआअ….रहम करो……..पर मैं ईक ना सुनी और तेज़ी से अपना लंड अंडर बाहर करने लगा…..मेरी बहन का दर्द 10 निंट बाद कम हो गया और वो अपनी गांड उठा कर मेरा साथ देने लगी….मैने पूछा रूपाली अब कैसा लग रहा है तो वो बोली भीयायययययाआआआआ….डालो और आआआआअहह….मज़ा आ रहा है….छोड़ दो मुझे……..आआआआआहह …फिर मैने रूपाली को कहा बहन तेरी बूर की सील तो टूट गयी आ बॅया तेरी गांड भी खोल डू ताकि कल से हमे कोई परेशानी और तकलीफ़ ना हो…तो मेरी बहन घोड़ी बन के बैठ गयी और बोली आआआआअहह…भाय्या लो मार लो मेरी गांड अपनी बहन की सग़ी बहन की अपनी पत्नी की गांड भी मार लो…तो मैने अपना लॅंड मेरी बहन की गांड मे डालना चाहा मगर छेड़ भूत छोटा और टाइट था…फिर मैं ईक ज़ोर के झटके से पूरा लंड अंडर कर दिया…मेरी बहन की चीककककककक….निकल गयी

ये हिंदी सेक्स कहानी आप HotSexStoriesPictures.Com पर पढ़ रहें हैं|

यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप www.HindiSexStoriesPictures.Com पर पढ़ रहे हैं

आआआआआअहह……भियाआआआआ……….नही…नही…निकालो निकालो…ना….आआआआअहह बसस्स्स्स्स्स्सस्स………पर मैने झटके चालू रखे 3 मिंट मे ही मेरी बहन की बूर से पानी निकालने लगा और मेरा लॅंड मैने उसकी गांड से निकाला…और बोला मेरी बहन अपना मूह खोलो ना…और मैने अपना लॅंड रूपाली के मूह मे डाल दिया मेरी बहन मेरे लॅंड को चूसने लगी…2 मिंट मे मेरा पानी भी निकलना शुरू हो गया…और मैइनेसारा कम अपनी बहन के मूह मे डाल दिया….जिसे मेरी बहन पे गयी…उस रात भर मैं और मेरी बीवी 3 बार डिसचार्ज हुवे…