पुरे गाव से चूची चुसवाई

दोस्तों, यह मेरी पहली कहानी है. और मुझसे कोई भूल हो जाए तो मुझे माफ करना. यह पूरी काल्पनिक कहानी है लेकिन मुझे लगता है कि आप को यह बहुत पसंद आएगी. मुझे हर तरह के बूब्स बहुत पसंद है यह मेरी फेंटासी है, तो अब मैं यह कहानी एक लड़की की तरफ से लिख रहा हूं, अपनी कहानी शुरू करता हूं.

यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप www.HindiSexStoriesPictures.Com पर पढ़ रहे हैं!


देसी हिंदी अन्तर्वासना सेक्स कहानी पढ़े।

मैं एक 18 साल की सीधी सादी लड़की हूं जिसने जवानी की दहलीज पर कदम रखा था. मैं एक छोटे से गांव की लड़की हूं. मेरे मां बाप बहुत गरीब हे, मेरे पिता गांव में खेती करते थे लेकिन सूखा पड़ने की वजह से हमारे घर में दो वक्त के खाने के पैसे भी नहीं थे, इसलिए मजबूरी में मेरे पिता ने मुझे दूसरे गांव में रहने वाले एक दुधीया को बेच दिया, उसने मेरे मां बाप बहला फुसला दिया कि वह मुझसे शादी करेगा  लेकिन मुझे क्या पता था कि उसके मन में क्या है? मैं उसके साथ उसके गाव आ गई.

उसके पास बहुत सारी गाय और भैस थी लेकिन उसके घर में कोई औरत नहीं थी, बस उसके दो छोटे भाई थे लेकिन दोनों मुजसे बड़े और बहुत ताकतवर थे, उस दूध वाले का नाम सुंदर था और भाइयों का नाम सुरेश और चंदर था, सुंदर ने मुझे एक कमरे में बंद कर दिया, दो दिन तक मुझे खाना भी नहीं दिया. तीसरी रात वो मेरे कमरे में खूब दारु पीकर घुसा और जो उसने मुझे कहा उससे मेरे पैरों तले जमीन खिसक गई.

उसने कहा तू मेरी रंडी है, मैं तुझे जो बोलूंगा तू वह करेगी, वरना तेरा वह हाल करूंगा कि तुम सोच भी नहीं सकती. मैं डर गई मुझे आज तक किसी भी मर्द ने नहीं छुआ भी नहीं था, उसने कहा मैं तुझे रंडी देवी बनाऊंगा तेरे जिस्म को लोग प्रसाद समझकर भोग लगाएंगे और मैं उस से पैसे कमाऊंगा.

मेरी कुछ समझ में नहीं आ रहा था, फिर उसके दोनों भाई एक डॉक्टर को लेकर आए. सुंदर ने कहा चाल नंगी हो जा. मैंने मना किया तो उसने मुझे दो थप्पड़ लगाए. मैं बहुत डर गई और अपने कपड़े निकालने शुरू कर दीये. वह चारों मुझे जंगली कुत्तों की तरह देख रही थी, ऐसा लग रहा था मानो आंखों से चोद देंगे.

फिर उस डॉक्टर ने मेरे मम्मों का चेकअप किया और मेरे मम्में दबाएं और मेरे निप्पल भी दबाई जैसे कोई भैंस का दूध निकालता है. फिर उसने सुंदर के दोनों भाइयों को मुझे कसकर पकड़ ने को कहा, पकड़ते ही उसने मेरे दोनों निप्पल जोर से चूसे लेकिन दूध नहीं निकला. तो उसने भैंस को लगाने वाले दो इंजेक्शन निकाले और मेरे दोनों निप्पल में इंजेक्शन लगा दीए मैं जोर से चिल्लाई और वह सब हंसने लगे.

सुंदर बोला यह तो शुरुआत है रंडी आगे आगे देख तेरे साथ क्या करता हूं? और वह मुझे उस कमरे में बंद करके चले गए. में अपने दर्द से बेहोश हो गई. फिर ४ दिन तक में उसी कमरे में बंद रही है, मुझे अजीब सा खाना मिलता था. जो मैं चुपचाप खा लेती थी. ४ दिन बाद वह लोग डॉक्टर के साथ फिर से आए इस बार जब डॉक्टर ने मेरे निपल दबाए तो दूध की एक तेज धार उसके मुंह पर आई..

मुझे समझ नहीं आया कि यह क्या हो रहा है? फिर सुंदर ने डॉक्टर को पैसे दिए और उसे भेज दिया. फिर वह मेरे पास आया और बोला आज से तू रंडी देवी है, लोग तेरे पास आएंगे, तेरी चूची से दूध पिएंगे, जिससे मैं पैसे कमाऊंगा और फिर चुदाई भी करेंगे. मैं मालामाल बन जाऊंगा. मेरे तो होश ही उड़ गए. फिर पूरे गांव में सुंदर ने हीं यह खबर फैला दी कि उसके घर काम देवी आई है, जिसका दूध पीकर हर तरह की सेक्स बीमारियां ठीक हो जाती है, और जो इस देवी के साथ संभोग कर ले उस के लोड़े में भी बहुत शक्ति आ जाती है.

ये हिंदी सेक्स कहानी आप HotSexStoriesPictures.Com पर पढ़ रहें हैं|

यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप www.HindiSexStoriesPictures.Com पर पढ़ रहे हैं!


बस फिर क्या था? यह खबर सुनते ही गांव के सारे आदमी बूढ़े और जवान लाइन लगाकर सुंदर के घर के बाहर खड़े हो गए, सुंदर ने मुझे एक लाल साड़ी पहना दी बिना ब्लाउज और पेटीकोट के जिस में मैं लगभग नंगी ही थी, उसने मुझे एक अंधेरे कमरे में बैठा लिया और मेरे आसपास अगरबत्ती जला दी. मैं पूरी रंडी लग रही थी. किसी भी मर्द का लौड़ा मुझे देख कर खड़ा हो जाए. सब लोग मुझे वासना से देख रहे थे. सुंदर ने मेरी चूची चूसाईं का रेट १० रूपये पर मिनट रखा और चुदाई का रेट २००० रूपये  पर १५  मिनट रखा. अब मैं पूरे गांव की रंडी थी ६०  साल के आदमी भी मुझे चोदने के लिए खड़े थे, आगे की कहानी अगले भाग में. अभी तक आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताएं.