लम्बे समय के बाद कजिन की चुदाई

मेरा नाम मणि हे और में २४ साल का हु एंड में इंजीनियरिंग स्टूडेंट हु, फाइनल इयर में पढता हु. मेरी फॅमिली दुबई में रहती है. में यहा अकेला फ्लैट में रहता हु. में यहा स्टडी के सिलसिले में आया हु. ये स्टोरी मेरी और मेरी कजिन की हे, जिसका नाम गजल था. शी इस २७ इयर ओल्ड, उसकी फिगर ३२-२८-३६ थी.

वह बहोत मस्त लगती थी. गुड नेचर, थोड़ी सावली थी.

नाउ कमिंग टू द सेक्स स्टोरी.

जब में १९ साल का था, एंड में बहोत कॉमेडियन टाइप था. वो मुझे बहोत लाइक करती थी. हर टाइम मुझे मजाक सुजता था.

हम दोनो घंटे घंटे एक दुसरे से बात करते थे. इधर उधर की गजल को बहोत बेहेस करती थी.

एक दिन उसका मोबाईल खराब हो गया तो बोली मणि इसे ठीक करा दे, साउंड प्रॉब्लम है. नोकिया n९५ था, मेने उसे चेक करने के लिया, गलेरी खोली तो में हेरान हो गया, की उसमे पोर्न ही पोर्न भरी थी, उस समय मुझे यकीन नही हुआ की वो ऐसा देख रही है.

उस दिन फर्स्ट टाइम मेरा नजरिया चेंज हुआ के गजल को चोदना है. पहले में तुरंत बाथरूम गया, और उसको सोच के मोठ मारी, और कोशिश में लग गया की कोई रास्ता हो जिससे उसे मना सकू, मुझे बहोत डर लग रहा था.

कई बार जब वो किचन में होती थी तो मुझे उसके गांड को छुने का दिल करता उसकी गांड बहोत बहार आती थी और बूब्स भी पुरे झलकते थे. में कभी कभी झटके से छूता हुआ निकल जाता था. बट डर लगता था के अगर इसने किसी को बता दिया तो, में सबके सामने बुरा बन जाऊंगा. इसी चकर में कई साल निकल गये.

एक दिन में उनके घर गया. और बीमार होने की एक्टिंग की, मेरी आंटी (जलक की मोम)  बोली क्या हुआ बेटा मेडिसिन लाओ जलक, और फिर दोनों मेरी देख भाल में लग गई. आंटी थोड़ी देर में कही चली गई. और मेने देखा की वो मेरे से अजीब अजीब अंदाज से बात कर रही हे, की तुम्हारी कोई गर्ल फ्रेंड है. मेने कहा नही, फिर वो कमरे में चली गई.

अंकल बहोत स्ट्रिक्ट और शक करने वाले थे. वो मुझे जलक के साथ नही देखना चाहते थे. एक दीन उन्होंने मुझे जलक के साथ देख लिया. मुझे तो कुछ नही बोला, लेकिन जलक को अंदर जा के बहोत डाटा, और उस दिन से मेरा और जलक का पर्दा (बुरखा) अब में उसे नही देख सकता. फिर हम बोनो ने व्हाट्सअप चाट शुरू कर दी, एक दिन मेने उसे हिमत करके बोला की मुझे तुम्हे किस करना है, वो बोली मणि ये क्या कह रहे हो. में तेरी बहन हु. मेने कहा के मेने आपके मोबाईल में पोर्न देखी थी. इसलिए पूछ लिया. उसका जवाब नही आया. में डर सा गया था.

यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप www.HindiSexStoriesPictures.Com पर पढ़ रहे हैं!


कुछ दिनों बाद उसकी शादी हो गयी. (आज से १ साल पहले) में तो अब उससे बात भी नही कर पाता था.

वो शादी के बहोत बिनो के बाद यानि एक हफ्ते पहले उसने मेसेज किया की केसे हो.

में ठीक हु, फिर बात शुरू.

एक दिन वो बोली में मिलना चाहती हु, आ जाइये घर पर हु.

दुसरे दिन.

वो घर आई. में बोला पर्दा (बुरखा) खतम, बोली हा, मुझे पहले ही तोड़ देना चाहिए था, मेने कहा क्या हुआ? तो वो बोली में तुम्हारे जीजा से खुश नही हु. मेने कहा क्या हुआ? वो बोली छोड़ो.

फिर उसने वही पूछा अब कोई गर्ल फ्रेंड हे?

मेने कहा हे, कॉलेज में.

बोली कोई चकर वकर चलता है.

मेने कहा नही बस ऐसे ही हम अच्छे दोस्त है.

तो बोली हम दोनों के नही हे.

मेने कहा क्या?

तो बोली

तुम पहले क्या कह रहे थे, मेरी शादी से पहले.

मेने कहा कब, तो बोली व्हाट्सअप पे किस करने को बोल रहे थे. मेरी हवा उड़ गयी. समज नही आया क्या कहना चाहती हे.

यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप www.HindiSexStoriesPictures.Com पर पढ़ रहे हैं!


तो बोली, अब करोगे मुझे किस, में पागल हो गया. मुझे पूछा अपनी गर्ल फ्रेंड को किस किया? में चुप रहा. लेकिन कुछ कहे बिना ही उसके करीब गया, लिप्पिंग करने के लिए, और आगे बड़ा, उसने मुझे ऐसे चिपक लिया जैसे उसे बेचेनी हो रही हो, मेने काफी देर तक लिप को सोफ्टी की तरह चूसा, फिर धीरे से नेक को भी सक किया. अब मेने अपना हाथ उसके बूब्स पर ले गया और वो पागल हो चुकी थी. मेने पूछा किस के अलावा भी कुछ और करेंगी. वो बोली में तुम्हारी हु, जो चाहे करो, मेरा फर्स्ट टाइम था. मेने उसका बुरखा उतार दिया. और उसके बाकि कपड़े उतार ने लगा. वो पागल हो गई थी. उसने मेरी शर्ट के बटन ही तोड़ दिए, और मेरे सारे कपड़े उतार दिए, और मेरे लंड को सक करना शुरू कर दिया.

में थोड़ी देर में ही जड गया.

अब मेने उसके कुरता और पायजामा उतार दिया. और इनर वेअर भी, और उसे लेटा के उसके बूब्स को दबाने लगा. और सक करने लगा. फिर टांगे फेला के चूत चाटने,जीभ से चोदने लगा, और १५ मिनिट फिन्गरिंग करने के बाद वो तिलमिलाने लगी. और बोली       मणि लंड डाल जल्दी मेरा अब पूरा रेडी था. मेने उसे लिप किस किया, और धीरे से अपना ७ इंच लंड उसके अंदर डाल दिया. में जन्नत का सेर कर रहा था. पहली बार किसी की चूत में मेरा लंड गया था. मुठ तो १००० से ज्यादा मारा था. लेकिन ये मजा कहा मिलेगा. मेने धीरे धीरे पम्पिंग कर रहा था. और वो सिसकिया ले रही थी,आआआ ओह्ह्ह्ह हम्म्म्म आआआ हाहाहा मणि स्पीड बढ़ा जल्दी जल्दी.

मेने स्पीड बढ़ा दी, में पसीना पसीना हो गया.

थोड़ी मिनिट में वो जड गई.

मेने लंड बहार निकाला और उसके बूब्स पे रगड ने लगा.

कुछ मिनिट में बोली दुबारा डाल, मेरी जान ताकत कम हो चुकी थी. मेने बोला आप उपर बेठ जाओ, वो उपर बेठ गई. फिर मेने उसे खड़ा किया और दीवार से सपोर्ट देके उसकी एक टांग शोल्डर पे रख के बजाना शुरू किया, पच पच पट पट..

ऐसा आवाज पुरे रूम में बज रहा था. अब में जड ने वाला था. में उसके बूब्स पे ही पसर गया.

फिर मेने फिंगर से उसे भी जड़ा दिया. उस दिन हम दोनों ने कई बार किया.

और अब डेली तो नही पर हफ्ते में ३ बार होता हे. मुझे आज भी यकीन नही आता की में जलक को चोदता हूँ.


Share on :