दूकान है असली चुदाई का जुगाड़

हाय दोस्तो, आज मैं आपको चाट की दुकान पर आने वाली एक भाभी के विषय में सुनाने जा रहा हूँ  | मेरी एक चाट की दुकान है जहा पर लोगो की भीड़ लग जाती थी जब मैं ठेला लगाया करता था | मैं अपने घर से कुछ दूरी पर अपना चाट का ठेला लगाया करता था | मेरे पड़ोस में कुछ लडकिया रहा करती थी | एक दिन मैंने वो कारनामा कर दिखाया जिसके लिए मुझे अवसर मिला था | एक लड़की मेरे घर पर आया करती थी और मेरे घर से समोसा खरीदकर ले जाती थी | एक दिन अवसर पा कर मैंने उस लड़की को चोदा था | उस लड़की की लोवर को बिना खोले मैं उस लड़की की गाड को अपने हातो से दबा रहा था | उसके बाद मैंने उस लड़की की गाड के अन्दर अपना लंड डाला और फिर उस लड़की की गाड के अन्दर अपना लंड हिला रहा था | चलो अब मैं आपको सुनाता हूँ की मैंने उस लड़की को कैसे चोदा | मेरे पड़ोस में एक लड़की रहती थी |

मैं अकेला था और एक गर्लफ्रेंड की तलाश में रहा करता था | एक दिन मैंने बाजार पर अपनी चाट का ठेला लगाया था | तब एक लड़की मेरी चाट के ठेले पर आई हुई थी तब मैंने एक लड़की को देखा | जब वो लड़की मेरे चाट के ठेले पर चाट खा रही थी तब उस लड़की ने मुझ से पूछा की आप कहा रहते हो तब मैंने उस लड़की से बताया की मैं आपके पड़ोस में ही रहता हूँ | उस दिन उस लड़की ने मुझ से काफी देर तक बात किया | उस दिन के बाद से मैंने उस लड़की को अपनी गर्लफ्रेंड बनाना है ऐसा तय कर लिया था | मेरे एक मित्र ने बताया की जिस लड़की को मैं अपनी गर्लफ्रेंड बनाने के लिए कोशिश कर रहा हूँ | वो मेरे मित्र के घर से कुछ दूरी पर रहती है | तब मुझे मेरे उस मित्र ने बताया की उस लड़की को समोसे खाने का सौक है | इसलिए तुम तुम्हारे घर के सामने ही समोसा का ठेला लगाया करो | मेरे उस मित्र की सलाह पर मैंने अपने घर के सामने ही समोसे का ठेला लगाने लगा | एक दिन उस लड़की ने देखा की मैंने अपने घर के सामने ठेला लगाया हूँ | तब वो लड़की मेरे घर के सामने आकर रुक गयी | फिर उस लड़की ने मुझ से कहा की एक चाट बना दो | फिर मैं उस लड़की के लिए चाट बनाने में लग गया |

चाट बनाकर मैंने फिर उस लड़की को खाने के लिए दिया | जब वो लड़की मेरा बनाया हुआ चाट खा रही थी तभी मेरे घर से मेरी बहन बाहर आ गयी | अब मुझे उस लड़की का बॉयफ्रेंड बनना सरल हो गया था | मैं जब उस पड़ोस पर रहने वाली लड़की से बात कर रहा था तभी मेरी बहन भी उस लड़की से बात करने लगी | उस दिन के बाद से जब भी वो लड़की मेरे घर पर आया करती थी | मेरी बहन से मिले बिना वो लड़की नही जाती थी | तब मेरे पास एक सुनहरा अवसर था की मैं उस लड़की को अपनी गर्लफ्रेंड बना सकू | एक दिन वो लड़की मेरे घर पर आई हुई थी तब उस समय मेरे घर पर कोई नही था | तब मैंने उस लड़की से कहा की फिलहाल मेरी बहन बाहर गयी हुई है | इसलिए तुम कुछ समय तक घर के अन्दर बैठकर उसका इन्ताजार कर सकती हो | उस लड़की को अपनी गर्लफ्रेंड बनाने के लिए मैं उस लड़की को मुफ्त में चाट खिलाया करता था | एक दिन जब वो लड़की मेरे घर पर आई हुई थी और मेरी बहन का इन्ताजार कर रही थी | तब मैं घर के बाहर उस लड़की के लिए चाट बनाने के लिए चला गया था | फिर मैं उस लड़की के लिए चाट बनाकर लाया था |

जब मेरी बहन घर से बाहर थी तब मैंने उस लड़की को चाट बनाकर दिया और फिर मैं उस लड़की के सामने बैठकर उससे बात कर रहा था | तब उस लड़की ने मुझे उसकी एक दुखद दस्ता सुनाने लगी तब मैंने उस लड़की को सहानभूति देने के लिए उस लड़की को गले लगा लिया | लेकिन गले लगाने के दौरान मैंने उस लड़की के दूद को दबाना शुरु कर दिया | फिर कुछ समय के बाद मैंने वो किया जो मेरे लिए करना सरल था | उस लड़की ने फिर मुझे गले लगा लिया | इसके बाद मैंने उस लड़की की गाड को दबाने के लिए मैंने उसकी लोवर के अन्दर अपनी हाथ को डाल दिया और बिना उसकी लोवर को उतारे मैं उस लड़की की गाड को दबा रहा था | फिर मैं उस लड़की की चूत को चाटने के लिए फिर मैंने उस लड़की की लोवर को निचे खीच लिया ताकि उस लड़की की चूत को अपनी जीब से चाट सकू | उस लड़की की गाड को फिर मैं अपनी जीब से चाट रहा था | इतना करने के बाद फिर मैंने उस लड़की की चूत के अन्दर अपनी एक उंगली को डाला और अपनी उंगली को अन्दर बाहर कर रहा था | तब मेरी बहन घर पर आ गई थी और तब मैं उस लड़की को छोडकर दूर चला गया |

मेरी बहन घर के अन्दर घुस गयी थी अगर कुछ देर होती तो मेरी बहन उस लड़की की चुदाई करते हुए मुझे पकड लेती | फिर जब मेरी बहन घर पर आई तब उसने उस लड़की से पूछा की तुम कब आई थी | तब उस लड़की ने मेरी बहन से कहा की मैं कुछ समय पहले तुम से मिलने तुम्हारे घर पर आई थी | तब मेरी बहन ने पूछा की तुमने चाट खा लिया और उस लड़की ने बताया की हा मैंने चाट खा लिया तुम्हारे भाई ने मुझे चाट बनाकर दिया था | फिर मेरी बहन किसी कमरे के अन्दर चली गयी थी | तब मैंने मौका पा कर उस लड़की से कहा की तुम अब मुझे कुछ समय के बाद मिलना और उसी दिन मैंने उस लड़की को अपना फोन नम्बर दे दिया | फिर मैं घर से बाहर चला गया | कुछ समय तक वो पड़ोस वाली लड़की मेरी बहन के साथ मेरे घर पर रुकी रही | फिर कुछ समय के बाद वो लड़की उसके घर जाने लगी | जब वो लड़की उसके घर जा रही थी तब वो लड़की पलटकर मुझे देख रही थी | कुछ दिन के बाद वो लड़की फिर मेरे घर आई हुई थी | पहेले तो वो मेरी बहन से मिलने के लिए गई थी फिर लौटकर आई और मुझ से कहने लगी तुम्हारी बहन के लिए और मेरे लिए एक चाट बनाकर देना | जब मैं उस लड़की के लिए चाट बना रहा था तब वो लड़की ने मुझ से पूछा की तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है तब मैंने उस लड़की को बताया की मेरी कोई गर्लफ्रेंड नही है |

ऐसा कहने के बाद वो हसने लगी | अगले दिन वो लड़की मेरे घर के पास आई और मैंने उस लड़की को मुफ्त का एक चाट बनाकर दिया | फिर उस लड़की ने बात के दौरान मुझ से आखिरकार कह दिया की मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड बनने के लिए तयार हूँ | उस दिन मेरे लिए एक खास दिन था क्योकि वो लड़की मेरी गर्लफ्रेंड बन चुकी थी | जब वो लड़की मेरी गर्लफ्रेंड बन चुकी थी तब एक दिन वो लड़की मेरे घर पर आई हुई थी | उस दिन मेरी बहन से वो मिलने के लिए नही आई थी बल्कि वो मुझ से मिलने के लिए आई हुई थी | जब उस दिन वो लड़की मेरे घर के सामने लगाये हुए ठेले पर आयी हुई थी तब मैंने उस लड़की से कहा की आज मेरी बहन नही है तब उस लड़की ने मुझ से कहा की आज मैं तुम्हारी बहन से मिलने के लिए नही आई हूँ आज मैं तुम से मिलने के लिए आई हूँ | तब उस दिन मेरे पास एक अवसर था की मैं उस लड़की की चुदाई आसानी से कर सकता था | तब मैंने उस लड़की से कहा की मेरी बहन किसी पड़ोस वाली सहेली के घर पर गयी हुई है | इसलिए मैं उसको बुला देता हूँ तुम तब तक घर के सोफे पर बैठ सकती हो |

वो लड़की फिर सोफे पर कुछ देर के लिए बैठ गयी | फिर मैंने उस लड़की के लिए एक चाट बनाया और उस लड़की को देने के लिए घर के अन्दर चला गया | असलियत तो ये थी की मेरी बहन कुछ समय के बाद घर पर आने वाली थी और मुझे इसलिए उस दिन अवसर मिल गया था की मैं उस लड़की की चुदाई कर सकू | फिर मैं बाहर से उस लड़की के लिए एक चाट बनाकर ले आया | उस लड़की को फिर मैंने खाने के लिए दिया | फिर कुछ समय तक मैं उस लड़की से बात कर रहा था | तभी मैंने उस लड़की को गले लगाया और उसके होटो को चूम लिया | इसके बाद फिर मैंने उस लड़की की चूत को चोदने का अवसर मिला | उस लड़की के कपडे को जब मैंने खोला और फिर मैंने अपने लंड को बाहर निकल लिया | उसके बाद फिर वो लड़की मेरे लंड को चूसने लगी | इतना ही नही फिर मैं उस लड़की के कपडे उतारने के बाद फिर मैंने उस लड़की की चूत को चाटना शुरु कर दिया | कुछ समय तक तो चुदाई का प्रक्रिया चलती रही | फिर उस लड़की ने जो किया उसे देखकर आप अचम्भे में पड़ जाओगे क्योकि फिर मैंने अपने लंड के उपर एक चिप चिप्पा अपने मुह से निकल रहे थूक को निकाला और अपने लंड के उपर लगा दिया | इसके बाद फिर मैंने उस लड़की की चूत के अन्दर अपने लंड को डाल दिया | ऐसा करने पर मुझे एक नया अनुभव मिला था क्योकि आज तक मैंने किसी लड़की को नही चोदा था |

वो लड़की जिसको की मैंने उस दिन चोदा था वो मेरे जीवन की पहली लड़की थी | उस लड़की की चुदाई करने के बाद फिर मैंने उस लड़की के लिए एक तोफा दिया | उस लड़की को थोफा देने के दौरान मैंने उस लड़की को एक सलवार और पजामा दिया था | उस लड़की ने फिर मुझ से कहा की तुम्हारे लिए मैं किसी दिन एक तौफा लेकर आऊँगी | अब जब वो लड़की मेरी गर्लफ्रेंड बन चुकी थी | वो लड़की तब फुर्सत के समय मुझ से मिलने के लिए आया करती थी | लेकिन कुछ महीने के बाद मेरी बहन को उस लड़की और मेरे विषय में मालूम चल गया था की वो लड़की मेरी गर्लफ्रेंड बन गयी है | इसके आलावा मेरी बहन को एक दिन ये मालूम चल गया की मैं उस लड़की की चुदाई कर चूका हूँ | तब मैं अपनी बहन से छिपकर उस लड़की से मिला करता था अगर मैं उस लड़की से छिपकर नही मिलता तो वो लड़की मेरे पापा को बता देती |


Share on :