मेरे दोस्त की बहन की अन्तर्वासना

मेरा नाम संदेश है मैं दिल्ली का रहने वाला हूं, मेरी उम्र 23 वर्ष है और मैं कॉलेज में पढ़ाई कर रहा हूं। मै बचपन से ही पढ़ने में बहुत अच्छा हूं इसलिए मैं हमेशा ही फर्स्ट आता रहा हूं। मेरे पिताजी एक प्राइवेट संस्थान में मैनेजर के पद पर हैं और वह मुझे हमेशा ही सपोर्ट करते हैं। वह कहते हैं कि वह मुझसे बहुत ही ज्यादा प्रेम करते हैं और मेरी मां भी मुझसे बहुत ज्यादा प्रेम करती है क्योंकि मैं घर में इकलौता हूं। मेरे कॉलेज में जितने भी मेरे दोस्त हैं वह सब मुझसे हमेशा ही मिलने आते हैं और वह लोग मेरे घर पर अक्सर आते रहते हैं। मेरे माता-पिता को मेरे दोस्तों से कोई आपत्ति नहीं होती और उन्हें किसी भी प्रकार की कोई चिंता नहीं होती। वह कहते हैं कि तुम अपनी पढ़ाई में ध्यान देते रहो और इसी वजह से मैं अपनी पढ़ाई में बहुत ध्यान देता हूं

एक बार मैं कॉलेज से वापस लौट रहा था तो मुझे मेरा दोस्त रवि मिला, रवि ने उस दिन अपनी बहन से मेरी मुलाकात करवाई, उसकी बहन का नाम काजल है लेकिन उसका डिवोर्स हो चुका है। रवि मेरा बहुत अच्छा दोस्त है और वह अक्सर मेरे घर पर आता है। रवि ने जब मेरा परिचय काजल से करवाया तो मुझे काजल से मिलकर बहुत अच्छा लगा लेकिन उसके बारे में सोच कर मुझे बहुत बुरा भी लग रहा था क्योंकि उसकी उम्र ज्यादा नहीं है और उसके पति ने उसे डिवोर्स दे दिया। काजल की उम्र 28 से 30 वर्ष के बीच होगी। काजल उस दिन मुझसे पहली बार मिली थी लेकिन वह मुझसे खुलकर बात कर रही थी और कह रही थी कि मेरे पति और मेरे बीच में बिल्कुल भी रिलेशन अच्छा नहीं चल रहा था, इसी वजह से हम दोनों के बहुत झगड़े होते थे। उनका किसी अन्य महिला के साथ भी संबंध था इसीलिए मैंने उन्हें कहा कि यदि आप मेरे साथ खुश नहीं हैं तो आप मुझे डिवोर्स दे दीजिए। वह हमेशा ही मुझ में कोई ना कोई कमी निकालते रहते थे और मैं भी बहुत परेशान हो गई थी इसलिए मैंने उनसे डिवोर्स लेने का फैसला कर लिया और अब मैं अपने घर पर ही रह रही हूं।

मैंने रवि से कहा कि क्या तुम लोगों ने उनसे बात करने की कोशिश नहीं की, काजल और रवि मुझे कहने लगे कि हम लोगों ने उनसे बहुत बात करने की कोशिश की लेकिन उन्हें बिल्कुल भी हमारी बात समझ नहीं आई और वह कह रहे हैं कि यदि तुम मुझसे डिवोर्स लेना चाहती हो तो मैं तुम्हें डिवोर्स देने को तैयार हूं, इसी वजह से मैं अब अपने घर पर रह रही हूं। मैंने काजल से पूछा कि अब आप क्या करने वाली है, वह कहने लगी कि मैं अब अपनी जॉब करुँगी। मैं अपने घर पर बोझ नहीं बनना चाहती इसलिए मैं जॉब कर के अपना खर्चा निकाल सकती हूं। रवि और मेरी बहुत अच्छी दोस्ती है लेकिन हम दोनों की मुलाकात कॉलेज में ही हुई है और काजल की शादी काफी पहले हो चुकी थी जब रवि स्कूल में था। इसीलिए कभी भी रवी ने मुझसे काजल के बारे में बात नहीं की। उस दिन हम लोगों ने काफी बात की और मुझे काजल से मिलकर भी बहुत अच्छा लगा। अब हम लोग वहां से चले गए और मैं भी अपने घर आ गया लेकिन जब मैं अपने घर पहुंचा तो मुझे काजल को देख कर बहुत बुरा लग रहा था। रवि मुझे जब भी कॉलेज में मिलता था वह हमेशा ही अपनी बहन के बारे में बोलता और कहता कि हम लोग बहुत ही परेशान हो चुके हैं क्योंकि मेरे पिताजी भी अब मेरी बहन को बहुत ताने मारते हैं और वह कहते हैं कि यदि तुम्हें पहले शादी नहीं करनी थी तो तुम उसी वक्त मना कर देती। काजल ने मुझे यह बात नहीं बताई थी और ना ही रवी ने मुझसे बात कही थी की उसकी बहन ने लव मैरिज की है। रवि ने बादमे मुझे सब कुछ बताया कि वह लोग कैसे मिले थे और उसके बाद कैसे काजल ने घर में अपने पिताजी से बात की। रवि कहने लगा कि मेरे पिताजी पहले इस रिश्ते के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं थे क्योंकि मेरे जीजा कुछ भी काम नहीं करते थे और मेरी बहन के समझाने के बाद ही उन्होंने एक जगह काम करना शुरू किया और वहीं पर वह काम कर रहे थे लेकिन कुछ दिनों बाद ही उन्होंने वह काम भी छोड़ दिया और घर में ही रहने लगे।

उनका परिवार बहुत ही संपन्न है इसलिए उन्हें किसी भी तरीके से आर्थिक समस्या का सामना नहीं करना पड़ा, इसी वजह से वह हमेशा ही मेरी बहन पर दबाव डालते रहते थे और कहते की तुम कुछ काम क्यों नहीं कर लेती। मेरी बहन काम नहीं करना चाहती थी लेकिन उसके बावजूद भी वह मेरी बहन पर बहुत दबाव डालते थे और उसी बीच उनका रिलेशन किसी दूसरी लड़की के साथ भी था लेकिन उन्होंने कभी भी मेरी बहन से इस बारे में बात नहीं की थी और मेरी बहन बहुत ही गुस्सा थी जब मेरी बहन को इस बारे में जानकारी हुई। उस वक्त उसे बहुत बुरा लगा और उसने मेरी मां से बात की लेकिन मेरी मम्मी ने कहा कि तुम अपने पति को समझा लो यदि वह समझ जाता है तो तुम दोनों अपना रिलेशन दोबारा से अच्छा कर पाओगे लेकिन मेरे जीजाजी बिल्कुल भी नहीं समझे और वह उल्टा मेरी बहन पर ही दबाव डालते थे कि तुम कुछ भी काम नहीं करती और घर पर ही रहकर मुझे परेशान करती हो। मेरे जीजा की शराब पीने की आदत से भी मेरी बहन बहुत परेशान थी। मेरी बहन ने कई बार अपने सास और ससुर से इस बारे में बात की लेकिन वह लोग उन्हें बिल्कुल भी नहीं समझाते थे और उल्टा मेरी बहन को ही डांटते थे। जब मेरी बहन बहुत परेशान हो गई तो वह घर वापिस आ गई।

जब उस दिन रवि ने मुझे यह सब बताया तो मुझे वाकई में काजल को लेकर बहुत दुख हुआ। एक दिन मैं अपने कॉलेज से ही वापस लौट रहा था तो काजल मुझे रास्ते में मिली और कहने लगी तुम कहां जा रहे हो, मैंने उसे कहा कि मैं तो घर जा रहा हूं। उस दिन काजल और मैं साथ में ही एक रेस्टोरेंट में बैठ गए और बाते करने लगे। जब मैं काजल के साथ बैठा हुआ था तो मैंने काजल का  हाथ पकड़ लिया और हम दोनों ही एक दूसरे का हाथ पकड़ कर बात कर रहे थे। उस वक्त काजल मुझसे कहने लगी कि क्या हम लोग कहीं बाहर जा सकते हैं। मैंने उसे कहा हां तो वह मुझे अपनी एक सहेली के घर ले गई। वहा हम दोनों ही साथ में बैठे हुए थे उसकी सहेली कही चली गई और हम दोनों कमरे मे अकेले थे। काजल ने मेरे होठों को किस करना शुरू कर दिया और बहुत देर तक मेरे होठों को चूमती रही। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था जब वह मुझे किस कर रही थी। मैंने भी काफी अच्छे से उसके होठों को किस करना शुरू कर दिया। मैंने जब काजल के कपड़े खोले तो उसका बदन मैंने देखा तो मुझे मजा आ गया। जैसे ही मैने अपने होठों को काजल के स्तन पर लगाया तो मुझे बहुत अच्छा महसूस होने लगा और वह मचलने लगी उसके स्तन से दूध भी बाहर निकलने लगा और मुझे भी बहुत अच्छा महसूस होने लगा। जब काजल ने मेरे लंड को अपने मुंह में लिया तो मुझे इतना अच्छा लगा कि मैं उसके गले के अंदर तक अपना लंड उतार देता। उसने काफी देर तक मेरे लंड को चूसा उसके बाद उसने अपने दोनों पैरों को चौड़ा कर लिया और जैसे ही मैंने अपने लंड को काजल की योनि में डाला तो वह चिल्लाने लगी। वह मुझे कहने लगी कि तुम्हारा लंड तो बहुत ही मोटा है। वह बड़ी तेज चिल्ला रही थी और मैं भी उसे बड़ी तेज गति से धक्के दिए जाता। मुझे इतना मजा आता और मैं उसे बड़ी तेजी से धक्के देता। वह बहुत खुश हो रही थी और कह रही थी मुझे बहुत मजा आ रहा है तुम जिस प्रकार से मुझे चोद रहे हो। उसने अपने दोनों पैरों को चौड़ा कर लिया मेरा लंड उसकी योनि के अंदर तक जा रहा था। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था जब मेरा लंड काजल की योनि के अंदर जा रहा था। मैंने उसे अपने ऊपर लेटा दिया और मैंने उसकी योनि के अंदर अपने लंड को डाल दिया। जैसे ही मेरा लंड उसकी योनि में गया तो मुझे बहुत अच्छा लगा और मैं उसे झटके देता। उसे भी बहुत अच्छा महसूस होता जब वह झड गई तो उसने अपनी योनि को टाइट कर लिया। मैं भी ज्यादा समय तक उसकी योनि की गर्मी को बर्दाश्त नहीं कर पाया और जैसे ही मेरा वीर्य काजल की योनि में गिरा तो मुझे बहुत अच्छा लगने लगा। उसके बाद से काजल और मेरा रिलेशन चल रहा है।


Share on :